Thursday, October 25

हम सब भारतीय है

हम सब भारतीय है जो मंदिर न जाने वालो को नास्तिक बताते हैं,
और खुद मंदिर मैं जा कर पड़ोसन और पडोसी की चुगली लगते है ,
हम सब भारतीय हैं,जो भगवा पहन कर सनयासिनो से इश्क लड़ाते है ,
और डिस्को जाने वालो हमारे युवको को पथभ्रष्ट बताते है !
हम सब भारतीय है ,जो पत्नी के घूमने पर पाबंदी लगते है,
मगर उसके  के तीन दिन के  तीर्थ  के झूठ पर जल्दी स्वीकृति लगते है ,
हम सब भारतीय है, जो अपने बच्चो के पास होने के लिए नक़ल लगवाते है ,
और फेल हो जाये तो पडोसी से भी छुपाते है ,
हम सब झूठ के इतने आदि हो चुके है,
की सच से सदा घबराते है,
राम नाम मैं नहीं कर्म में निवास करता है,
ये बात हमें गंदे कर्मो में लिप्त लोग ही उपदेश बना के सुनाते है!

3 comments:

LOVER (GURU) said...

Please do not comment on a particular socoety, Sanatan dharm ke aap bhi hissa hai.

shaveta said...

me kisi dharm jati ki nahi ho,par bhagwan me vishwas karti hoo, fir bhi un logo se nafrat ha jo bhagwan ke nam par bholi bhali janta ko pagl banate ha, koi sanyasi ban kar car me bethega, chadhawa chadwayega to fir sanyasi kis bat ka.. prabhu ko pane ke lie to nirmal hridy or prem chaiye bas

umashankar said...

sach, behatareen thoughts, aadhunik dikhawe ke upar, wah.